जेपी नडडा Japi nada

जेपी नडडा koun hai

 एक भारतीय राजनीतिज्ञ तथा वर्तमान भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं भारत के वरिष्ठ सदन राज्यसभा के सांसद हैं।

जेपी नडडा ka जन्म  और Name

जेपी नडडा Ka pura name जगत प्रकाश नड्डा हैं। एक भारतीय राजनीतिज्ञ तथा वर्तमान भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं भारत के वरिष्ठ सदन राज्यसभा के सांसद हैं।पटना में 1960 में जन्में जगत प्रकाश नड्डा ने बीए और एलएलबी की परीक्षा पटना से पास की थीऔर शुरु से ही वे एबीवीपी से जुड़े हुये थे. अपने राजनीतिक करियर में नड्डा जम्मू-कश्मीर, पंजाब, हरियाणा, छत्तीसगढ़, तेलंगाना, केरल, राजस्थान, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों के प्रभारी और चुनाव प्रभारी रहे |” नड्डा भारतीय वकील और राजनीतिज्ञ हैं जो 2020 से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के 11वें राष्ट्रीय अध्यक्ष और 2024 से गुजरात का प्रतिनिधित्व करने वाले राज्यसभा सदस्य के रूप में कार्यरत हैं। एक प्रमुख निर्णय निर्माता वह भाजपा के नरेंद्र मोदी के करीबी सहयोगी हैं ।वह 2019 से 2020 तक भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष थे।  नड्डा ने 2014 से 2019 तक पहले मोदी मंत्रिमंडल में भारत सरकार के केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री और संसदीय बोर्ड सचिव के रूप में भी कार्य किया। भारतीय जनता पार्टी । इससे पहले, वह 2007 से 2012 और 1993 से 2003 तक हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर से विधायक रहे और 2007 से 2012 तक वन, पर्यावरण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री और 1998 से 2003 तक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण और संसदीय मामलों के मंत्री रहे। हिमाचल प्रदेश सरकार में

राजनीतिक जीवन {Carir }

अपने पहले कार्यकाल के दौरान, उन्होंने 1994 से 1998 तक हिमाचल प्रदेश विधान सभा में अपने पार्टी समूह के नेता के रूप में कार्य किया। वे पहली बार 1993 में हिमाचल प्रदेश से विधायक चुने गये और 1994 से लेकर 1998 तक राज्य विधानसभा में पार्टी के नेता रहे | इसके बाद वे दुबारा 1998 में फिर विधायक चुने गये. इस बार उन्हें स्वास्थ्य और संसदीय मामलों का मंत्री बनाया गया वह अपने दूसरे कार्यकाल के दौरान स्वास्थ्य और परिवार कल्याण और संसदीय मामलों के मंत्री थे। 2007 में उन्हें फिर से चुनाव जीतने का अवसर मिला और प्रेम कुमार धूमल की सरकार में उन्हें वन-पर्यावरण, विज्ञान व टेक्नालॉजी विभाग का मंत्री बनाया गया | वर्ष 2010 के पहले तक जगत प्रसाद नड्डा यानी जेपी नड्डा हिमाचल प्रदेश की राजनीति तक सीमित थे. तब वह प्रेम कुमार धूमल सरकार में वन मंत्री थे | कुछ वजहों से मुख्यमंत्री धूमल के साथ मतभेद बढ़ने पर 2010 में उन्हें वन मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था |2014 के लोकसभा चुनाव के वक्त जेपी नड्डा ने बीजेपी मुख्यालय से पूरे देश में पार्टी की चुनाव कैंपेनिंग की मॉनिटरिंग की थी | उस वक्त उनका काम कैंपेनिंग में जुटी विभिन्न समितियों से लेकर नेताओं की रैलियों आदि के समन्वय का था. सपा-बसपा गठबंधन के चलते यूपी का लोकसभा चुनाव बेहद अहम और कठिन हो चला था | पार्टी ने जनवरी, 2019 में उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाकर भेजा. शाह ने गठबंधन की काट के लिए 50 प्रतिशत वोट शेयर का टारगेट तय किया था | जेपी नड्डा ने अपनी रणनीतियों के दम पर 49 फीसद से अधिक वोट शेयर पार्टी के लिए जुटाने में सफल रहे. नतीजा रहा कि बीजेपी और सहयोगी अपना दल ने कुल मिलाकर 64 सीटें जीतीं |20 जनवरी 2020 को उन्हें भारतीय जनता पार्टी का अध्यक्ष नियुक्त किया गया। सितम्बर 2022 में जगत प्रकाश नड्डा का कार्यकाल बढ़ाकर 2024 तक कर  दिया गया हैं

जेपी नडडा ने हिन्दू राष्ट्र का विरोध

2023 में बागेश्वर नाम के पीठाधीश्वर श्री धीरेन्द्र शास्त्री ने भारत देश को हिन्दू राष्ट्र बनाने की मांग की। इस के समर्थन में देश में व्यापक स्तर पर ये मांग उठने लगी तो कई भाजपा नेताओं ने भी इस मांग का समर्थन कर दिया। तब भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा ने इसका विरोध किया और अपने संगठन के नेताओं को हिदायत दी की हिन्दू राष्ट्र का समर्थन न करें और ऐसे बयान न दें हिन्दू राष्ट्र का विरोध जेपी नडडा ने किया

जेपी नडडा भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष 

जून 2019 में नड्डा को भाजपा का राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया गया। 20 जनवरी 2020 को, उन्हें सर्वसम्मति से भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में चुना गया, यह भूमिका उन्होंने अमित शाह से ली थी । जनवरी 2021 में पश्चिम बंगाल के बर्धमान में नड्डा ने एक नई योजना एक मुट्ठी चावल योजना शुरू की ।  सितंबर 2022 में उन्हें 2024 के लोकसभा चुनाव तक पार्टी प्रमुख बने रहने का विस्तार मिला। 

राष्ट्रीय राजनीति में जेपी नडडा

जेपी नडडा ने 2012 में विधान सभा के लिए फिर से चुनाव नहीं लड़ा और इसके बजाय भारतीय संसद के ऊपरी सदन राज्यसभा के लिए चुने गए ।  2014 में, कैबिनेट फेरबदल के दौरान , प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने नड्डा को स्वास्थ्य मंत्री बनाया 4 मार्च 2024 को उन्होंने हिमाचल प्रदेश से राज्यसभा सदस्य पद से इस्तीफा दे दिया

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *